• February 28, 2024
 वेटिकन में पोप फ्रांसिस से मिले मोदी, भारत आने का दिया न्योता

पीएम मोदी (PM Narendra Modi) ने पोप फ्रांसिस (Pope Francis) को भारत आने का न्योता दिया है. आखिरी पोप यात्रा 1999 में हुई थी. इस दौरान अटल बिहारी वाजपेयी देश के प्रधानमंत्री थे और पोप जॉन पॉल द्वितीय भारत यात्रा पर आए थे.

वेटिकन सिटी, वेटिकन: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) अपने इटली दौरे पर शनिवार को वेटिकन सिटी (Vatican City) में पहुंचे. वहां उन्होंने पोप फ्रांसिस (Pope Francis) के साथ मुलाकात की. इस दौरान विदेश मंत्री एस जयशंकर और राष्ट्रीय रक्षा सलाहकार अजीत डोवल भी उनके साथ रहे.  

08c43bc8-e96b-4f66-a9e1-d7eddc544cc3
345685e0-7355-4d0f-ae5a-080aef6d8bab
5d70d86f-9cf3-4eaf-b04a-05211cf7d3c4
IMG-20240117-WA0007
IMG-20240117-WA0006
IMG-20240117-WA0008
IMG-20240120-WA0039

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शनिवार को वैटिकन पहुंचकर पोप फ्रांसिस (Pope Francis) से मुलाकात की. पीएम मोदी और कैथोलिक चर्च के प्रमुख पोप फ्रांसिस के बीच आमने-सामने यह पहली बैठक थी. मोदी पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं, जिनसे फ्रांसिस ने 2013 में पोप बनने के बाद मुलाकात की है. पीएम मोदी ने पोप फ्रांसिस को भारत आने का न्योता भी दिया है. आखिरी पोप यात्रा 1999 में हुई थी. इस दौरान अटल बिहारी वाजपेयी देश के प्रधानमंत्री थे और पोप जॉन पॉल द्वितीय भारत यात्रा पर आए थे.

वैटिकन में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और विदेश मंत्री एस जयशंकर भी मोदी के साथ मौजूद थे. प्रधानमंत्री ने वैटिकन सिटी के विदेश मंत्री कार्डिनल पिएत्रो पारोलिन से भी मुलाकात की. ऐतिहासिक बैठक से पहले विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने शुक्रवार को कहा था कि प्रधानमंत्री की पोप के साथ अलग से बैठक होगी. रोम में एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान उन्होंने कहा, ‘वह पोप से व्यक्तिगत मुलाकात करेंगे.’


वैटिकन ने वार्ता के लिए कोई एजेंडा नहीं किया था तय

श्रृंगला ने कहा था, ‘कल, प्रधानमंत्री परम पावन पोप फ्रांसिस से वैटिकन सिटी में भेंट करेंगे और उसके बाद वह जी-20 सत्रों में भाग लेंगे, जहां वह और भी द्विपक्षीय बैठकें करेंगे. हम आपको जानकारी देते रहेंगे.’ उन्होंने कहा था कि बैठक के बाद प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हो सकती है. श्रृंगला ने बताया था कि वैटिकन ने वार्ता के लिए कोई एजेंडा तय नहीं किया है.

उन्होंने कहा था, ‘मेरा मानना है कि पंरपरा है कि जब परम पावन (पोप) से चर्चा होती है तो कोई एजेंडा नहीं होता और हम इसका सम्मान करते हैं. मैं आश्वस्त हूं कि इस दौरान आम तौर पर वैश्विक परिदृश्य और उन मुद्दों को लेकर जो हमारे लिए महत्वपूर्ण है चर्चा में शामिल होंगे.’ उन्होंने कहा, ‘कोविड-19, स्वास्थ्य के मुद्दे, कैसे हम साथ काम कर सकते हैं…ये कुछ विषय हैं जिनपर मेरा मानना है कि आमतौर पर चर्चा होगी.’

Youtube Videos

Related post