• May 25, 2024
 मिसरी के बैनर तले बनी ‘हे छठी मैया’ गीत 2 हुआ रीलिज

08c43bc8-e96b-4f66-a9e1-d7eddc544cc3
345685e0-7355-4d0f-ae5a-080aef6d8bab
5d70d86f-9cf3-4eaf-b04a-05211cf7d3c4
IMG-20240117-WA0007
IMG-20240117-WA0006
IMG-20240117-WA0008
IMG-20240120-WA0039

विमोचन महामंडलेश्वर कनकेश्वरी नंद गिरी, पुष्पदंत जैन, नंदू मिश्रा, ध्रुप श्रीवास्तव, चेता सिंह, विजय श्रीवास्तव, रानू जानसन आदि ने किया

खबरी इंडिया, गोरखपुर। मिसरी के बैनर तले बनी ‘हे छठी मैया’ गीत का रीलिज 5 नंवबर 2021, शुक्रवार को बैंकरोड स्थित ब्लैक हार्स रेस्टोरेंट में किया गया।
गीत का विमोचन महामंडलेश्वर कनकेश्वरी नंद गिरी, पुष्पदंत जैन, नंदू मिश्रा, ध्रुप श्रीवास्तव, विजय श्रीवास्तव, चेता सिंह, रानू जानसन द्वारा किया गया।
मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण भजन गायक नंदू मिश्रा और पुष्पदंत जैन ने किया। जबकि दीपप्रज्ज्वलन महामंडलेश्वर कनकेश्वरी नंद गिरी, प्रवीण श्रीवास्तव, गायिका चेता सिंह, प्रांजल श्रीवास्तव, वसुरी वादन रानू जानसन, राकेश सारस्वत, आरजे प्रीती त्रिपाठी ने कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इसके बाद शुरू हुआ समाज की अनकही पीड़ा को व्याख्यान करने का सिलसिला जो अपने स्वर को एक और प्रस्तुति से भोजपुरी की सशक्त टीम मिसरी ने “हे छठी मैया” 2 गीत को रिलीज कर पुनः एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है।
इस गीत का मुख्य उद्देश्य लोगों के एलजीबीटीक्यू समाज के प्रति घृणित व पूर्वाग्रही मानसिकता को बदलकर समानता व समरसता को स्थापित करना है।
यह गीत किन्नर समाज की व्यथा पर आधारित है, जिसमें मुख्य पात्र भूमिका में ख्यातिलब्ध महामंडलेश्वर कंकेश्वरी नंद गिरी नजर आएंगी। इस गीत के रचनाकार आदित्य राजन तथा आदर्श आदी, पूजा निषाद व काजल अग्रहरि के मधुर स्वरों से पिरोया गया है। इसके अलावा गीत और संगीत की साज-सज्जा आरसी प्रोडक्शन द्वारा तथा छायांकन वन शाॉट फिल्म ने किया है।
मानवता का अध्याय लिखते इस गीत को पूर्ण करने में महामंडलेश्वर कनकेश्वरी नंदगिरी, मिसरी के समस्त कलाकार, डी. के. गुप्त, प्रवीण श्रीवास्तव, नीरज कुमार सिंह, डा. योगेश, विजय श्रीवास्तव, धीरज सिंह , पुष्पदंत जैन, ध्रुप श्रीवास्तव, शैलेन्द्र कबीर का विशेष सहयोग रहा।
अतिथियों का स्वागत तुलसी का पौधा देकर किया गया।
संचालन आकृति विज्ञा ‘अर्पण’ ने किया।
नन्ही गौरी ने एक कविता बेटी हूं मैं बोझ नहीं, जगाउगी मैं सोच नई, दहेज का जहां ठिकाना है उस घर मुझे नही जाना है बबूल का अपने अभिमान ही मैं भारत की संतान हूं, हम बेटियों से नहीं करेगा कोई परहेज, अगर आप सब कहेंगे नो दहेज, नो दहेज, नो दहेज… सुनाकर सभी भाव विभोर कर दिया।
कार्यक्रम में महामंडलेश्वर कनकेश्वरी नंद गिरी, भजन गायक नंदू मिश्रा, प्रदेश व्यापारी कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष पुष्पदंत जैन, आदर्श आदी, मिसरी टीम, समाजसेवी विजय श्रीवास्तव, भाजपा किसान मोर्चा के समरेंदु सिंह, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के राकेश सिंह, दुर्गेश जी, अमरदीप गुप्ता, प्रतीक, भाजपा के युवा नेता शीतल मिश्र, ध्रुप श्रीवास्तव, डी. के. गुप्त, समाजसेवी प्रवीण श्रीवास्तव, कृष्णा पटेल, संदीप पाण्डेय, डा. योगेश, सुनैना श्रीवास्तवा, धीरज सिंह, शैलेन्द्र कबीर, चित्रा त्रिपाठी, नेहा मणि आर्या, नैना सिंह, रत्ना सिंह आदि लोग उपस्थित रहें।

Youtube Videos

Related post