• February 24, 2024
 राजस्थान के बारां में संप्रदायिक हिंसा, लगाया गया कर्फ्यू, इंटरनेट सेवा भी बंद
  • राजस्थान के बारां जिले में रविवार को सांप्रदायिक हिंसा फैल गई
  • प्रशासन ने शहर में कर्फ्यू लगा दिया है एवं इंटरनेट सेवा निलंबित कर दी है

कोटा (राजस्थान): राजस्थान के बारां जिले के छबड़ा शहर में दो युवकों को छुरा घोंपे जाने के बाद रविवार को सांप्रदायिक हिंसा फैल गयी एवं भीड़ ने दर्जनों वाहन एवं दुकानों में आग लगा दी तथा तोडफोड़ की। प्रशासन ने शहर में कर्फ्यू लगा दिया है एवं इंटरनेट सेवा निलंबित कर दी है। पुलिस ने हिंसक  भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे लेकिन दो समुदायों के लोग हाथों में डंडे, लोहे की छड़ें एवं हथियार लेकर देर शाम तक उपद्रव करते रहे। उन्होंने एक दमकल गाड़ी में भी आग लगा दी और पुलिस एवं सरकारी वाहनों समेत सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया ।

08c43bc8-e96b-4f66-a9e1-d7eddc544cc3
345685e0-7355-4d0f-ae5a-080aef6d8bab
5d70d86f-9cf3-4eaf-b04a-05211cf7d3c4
IMG-20240117-WA0007
IMG-20240117-WA0006
IMG-20240117-WA0008
IMG-20240120-WA0039

घटनास्थल पर मौजूद बारां के पुलिस अधीक्षक विनीत बंसल ने कहा, ‘‘ स्थिति तनावपूर्ण है । भीड़ की हिंसा  जारी है और हम स्थिति नियंत्रित करने का प्रयास कर रहे हैं।’’ वैसे हिंसा  में किसी के हताहत होने की कोई आधिकारिक जानकारी सामने नहीं आयी है।  अधिकारियों ने बताया कि अतिरिक्त सुरक्षाबलों को बुलाया गया है तथा कोटा रेंज के डीआईजी रवि गौड़ समेत वरिष्ठ अधिकारी हिंसा  प्रभावित क्षेत्र में गये हैं।

सूत्रों के अनुसार शनिवार शाम को धरनावाड़ा र्सिकल में कमल गुजर्र (32) और राकेश धाकड़ (21) को एक अन्य समुदाय के चार पांच युवकों ने हमले में घायल कर दिया था। घायल युवकों को अस्पताल में भर्ती कराया गया और उसके बाद उनके परिवारों एवं जाट और गुजर्र समुदायों के सदस्यों ने पांच आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग करते हुए शनिवार रात को धरनावाड़ा र्सिकल पर धरना दिया। पुलिस ने शनिवार देर रात तीन आरोपियों को पकड़ा जबकि मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई।
सूत्रों के अनुसार रविवार सुबह फिर प्रदर्शनकारी प्रदर्शन करने लगे और उन्होंने दुकानें बंद करने की मांग की। जब प्रदर्शनकारियों ने अलीगंज और एजाज नगर से गुजरते हुए व्यापारियों से दुकानें बंद करने को कहा तब हिंसा  फैल गयी और वह अन्य क्षेत्रों तक जा पहुंची।  धरनावाड़ा र्सिकल, स्टेशन रोड, एजाज नगर और अलीगंज क्षेत्रों में करीब 10-12 दुकानें जला दी गयीं और एक निजी यात्री बस, कारों एवं अन्य वाहनों के साथ-साथ एक दमकलगाड़ी भी आग के हवाले कर दी गयी। बारां के जिलाधिकारी ने छबड़ा के नगरपालिका क्षेत्र में रविवार को शाम चार बजे से कफ्यरू लगाने का आदेश दिया। अधिकारियों के अनुसार जिले में 13 अप्रैल को शाम चार बजे तक इंटरनेट सेवा निलंबित कर दी गई है।
डर की वजह से दुकानों के बाहर जमा सामान छोड़कर भागे व्यापारी
बारां जिले के तमाम थानों की पुलिस मुस्तैद की गई है। स्थिति को कंट्रोल करने के लिए कोटा संभाग के संभागीय आयुक्त केसी मीणा, बारां कलेक्टर राजेंद्र विजय, कोटा रेंज आईजी रवि दत्त गौड व बारां एसपी ने मौके पर डेरा डाले हुए हैं। स्थिति इस तरह बिगड़ी की व्यापारी डर की वजह से अपनी दुकानों के बाहर जमा सामान भी बाहर ही छोड़ दुकानें बंद करके भाग गए।
इलाके में बंद की गई इंटरनेट सेवा: आयुक्त
इलाके में धारा 144 लागू की गई है। साथ ही इलाके की इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। ताकि स्थिति जल्द से जल्द नियंत्रित हो सके। उपद्रव के दौरान हुए नुकसान का फिलहाल आंकलन नहीं किया गया है। मीणा ने कहा कि चाकूबाजी की घटना के बाद उपजे विवाद और उपद्रव फैलाने वाले लोगों की प्रशासन गिरफ्तारी में जुट गया है। अलग- अलग विशेष टीमें प्रशासन के द्वारा गठित की गई है। जो अब अपना काम कर रही है।

‘आरएसी कंपनी को भी तैनात किया गया’
 छबड़ा कस्बे में हालात पर पूर्ण नियंत्रण पाने के लिए कोटा संभाग के कोटा, बारां, बूंदी व झालावाड़ जिलों से पुलिस बल तैनात किया गया है। साथ ही आरएसी कंपनी को भी तैनात किया गया है। लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की गई है।

Youtube Videos