• May 25, 2024
 मानवता हुई शर्मसार, जब नहीं ली किसी ने सुध तो बेटे ने मां का शव ठेले पर लादकर पहुंचा श्मशान घाट
  • -कोरोना पाजिटिव महिला की मौत के बाद मोहल्ले वालों ने फेरा मुंह
  • बेटे ने निभाया दूध का कर्ज, मृतक को मां को अकेले ठेले से लेकर पहुंचा श्मसान
  • ईलाज के अभाव में होम आईसोलेट महिला की मौत

विनीत राय, गोरखपुर। 

08c43bc8-e96b-4f66-a9e1-d7eddc544cc3
345685e0-7355-4d0f-ae5a-080aef6d8bab
5d70d86f-9cf3-4eaf-b04a-05211cf7d3c4
IMG-20240117-WA0007
IMG-20240117-WA0006
IMG-20240117-WA0008
IMG-20240120-WA0039

मुख्यमंत्री के शहर गोरखपुर के गोला कस्बे में मानवता शर्मसार करने की एक खबर सामने आई है। दो दिन से होम आइसोलेशन में रह रही 55 वर्षीय संक्रमित महिला को समुचित इलाज न मिलने से रविवार को उसकी जान चली गई।
मौत की सूचना देने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम घर नहीं गई। मदद मांगने पर मोहल्लों वालों ने दरवाजे-खिड़कियां बंद कर लिए।

थक हार कर बेटे ने मां के शव को अकेले कफन में लपेटा और ठेले पर लादकर श्मशान घाट पहुंच गया। वहां अकेले ही उसने मां का अंतिम संस्कार किया। कोरोना प्रोटोकाल के बारे में पूछने पर जिम्मेदार अब बगले झांक रहे हैं।
बीते 8 अप्रैल को गोला कस्बे से 55 यात्री बस बुक कर कुम्भ स्नान के लिए हरिद्वार गए थे। सभी लोग 16 अप्रैल को वापस लौटे।

कुछ यात्रियों की तबीयत खराब होने पर तहसील प्रशासन ने सबकी कोविड जांच कराई तो नौ लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

इसमें गोला कस्बे के वार्ड संख्या-5 की 55 वर्षीय महिला भी संक्रमित मिलीं। डॉक्टरों ने उनको 14 दिन क्वारंटीन रहने की सलाह दी थी। वह बीते शुक्रवार की शाम से ही होम आइसोलेशन में रह रही थीं। लेकिन इस दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम ने महिला का न ही जांच की और न ही कोई दवा दी।

परिजनों के अनुसार रविवार की सुबह अचानक महिला की तबीयत बिगड़ने लगी। जब तक इलाज के लिए कहीं ले जाते, तब तक उसने दम तोड़ दिया। लापरवाही की हद तो तब हो गई जब कोरोना पाजिटिव महिला की मौत के बाद भी स्वास्थ्य विभाग की टीम वहां नही पहुंची। कोरोना केस होने के कारण मोहल्ले के लोगों ने भी मुंह मोड़ लिया।
कहीं से कोई उम्मीद न देख महिला के बेटे ने ही मास्क व ग्लव्स लगाकर मां को कफन में लपेटा और अकेले ही ठेले पर लादकर गोला स्थित मुक्तिधाम पर पहुंचा।

वहां उसने अकेले ही चिता सजाई और मुखाग्नि देकर मां का अंतिम संस्कार कर दिया। अंतिम संस्कार के दौरान भी कोविड प्रोटोकाल के तहत जिम्मेदार विभाग का कोई अधिकारी-कर्मचारी नहीं पहुंचा।

क्‍या बोले जिम्‍मेदार ?

इस मामले में चिकित्सा प्रभारी डॉ. योगेंद्र नारायण सिंह ने कहना है क‍ि होम आइसोलेशन में रहे लोगों को दवा देने का निर्देश दिया गया था। मामले में लापरवाही बरतने वाली टीम को कारण बताओ नोटिस जारी किया जाएगा। इस मामले से उच्चाधिकारियों को अवगत कराया जाएगा। वहीं, एसडीएम गोला राजेन्द्र बहादुर ने कहा कि होम आइसोलेशन में रहे लोगों को घर पर ही दवा और इलाज मिलना चाहिए। यह स्वास्थ्य विभाग की जिम्मेदारी है। गोला में महिला की मौत का मामला गंभीर है। उन्‍होंने कहा कि मामले की जांच कराकर दोषी के खिलाफ करवाई कराएंगे।

Youtube Videos

Related post