• May 25, 2024
 महिलाओं की सुरक्षा और आत्मसम्मान के प्रति समाज अब और जागरूक हो रहा है- योगी आदित्यनाथ

योगी आदित्यनाथ  अपने सरकारी आवास पर  मिशन शक्ति  की प्रगति  के सम्बन्ध में प्रस्तुतीकरण के अवसर पर।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  के समक्ष सोमवार को उनके सरकारी आवास पर मिशन शक्ति की प्रगति, इसके द्वितीय फेज़ तथा इसमें विभिन्न विभागों द्वारा दिए गए योगदान के सम्बन्ध में प्रस्तुतीकरण किया गया। इस अवसर पर योगी आदित्यनाथ    ने कहा कि राज्य सरकार महिलाओं की सुरक्षा तथा आत्मसम्मान सुनिश्चित करने के लिए कटिबद्ध है। मिशन शक्ति को इसी उद्देश्य से लागू किया गया था। उन्होंने कहा कि  8 मार्च  को अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस है। इसके दृष्टिगत मिशन शक्ति के तहत महिला सशक्तीकरण से सम्बन्धित विभिन्न विभागीय आयोजन 26 फरवरी से ही शुरू कर दिए जाएं।

08c43bc8-e96b-4f66-a9e1-d7eddc544cc3
345685e0-7355-4d0f-ae5a-080aef6d8bab
5d70d86f-9cf3-4eaf-b04a-05211cf7d3c4
IMG-20240117-WA0007
IMG-20240117-WA0006
IMG-20240117-WA0008
IMG-20240120-WA0039

योगी आदित्यनाथ    ने कहा कि इस अभियान का सकारात्मक प्रभाव समाज पर पड़ा है और महिलाओं की सुरक्षा और आत्मसम्मान के प्रति समाज अब और जागरूक हो रहा है। उन्होंने राजस्व विभाग को घरौनी के तहत स्वामित्व का अधिकार घर की महिला को देने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में स्थापित किए गए सामुदायिक शौचालयों में महिला कर्मी की तैनाती शीघ्र की जाए। उन्होंने सभी जनपदों में अपर पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में एक रिपोर्टिंग चौकी स्थापित करने के निर्देश दिए, जहां महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों के सम्बन्ध में सूचना दर्ज कर त्वरित कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। उन्होंने मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना और मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना को प्रभावी ढंग से लागू करने के निर्देश दिए।

योगी      के समक्ष नारी सुरक्षा, नारी सम्मान तथा नारी स्वावलम्बन के लिए चलाए जा रहे मिशन शक्ति-द्वितीय फेज़ का प्रस्तुतीकरण अपर मुख्य सचिव गृह  अवनीश कुमार अवस्थी ने किया। उन्होंने मिशन शक्ति के द्वितीय फेज़ के दौरान महिला थाने की रिपोर्टिंग पुलिस चौकी की स्थापना तथा इससे सम्बन्धित प्रस्ताव, महिला साइबर क्राइम सेल, साइबर बुलीइंग व साइबर स्टॉकिंग के लिए डूज़ व डोन्ट्स, कम्युनिटी पुलिसिंग के तहत महिला सुरक्षा समिति के गठन, समिति के स्वरूप, महिला हेल्प डेस्क में प्राथमिक चिकित्सा की सुविधा, अत्यधिक वृद्ध महिला कैदी/शारीरिक रूप से अशक्त महिला कैदियों की रिहाई, मिशन शक्ति पुरस्कार इत्यादि के सम्बन्ध में योगी     को अवगत कराया।

प्रस्तुतीकरण के दौरान योगी   के समक्ष मिशन शक्ति में प्रतिभाग करने वाले विभिन्न विभागों जिनमें कृषि, पंचायती राज, राजस्व, महिला कल्याण तथा बाल विकास एवं पुष्टाहार, चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास, युवा कल्याण, बेसिक शिक्षा, समाज कल्याण, उच्च शिक्षा, दुग्ध विकास, चिकित्सा शिक्षा, संस्कृति, माध्यमिक शिक्षा, प्राविधिक शिक्षा, औद्योगिक विकास, ग्राम्य विकास, सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग, परिवहन, नगर विकास, पशुपालन, अल्पसंख्यक कल्याण, न्याय तथा सहकारिता विभाग शामिल हैं, ने अपने-अपने विभाग द्वारा किए गए कार्यों तथा उपलब्धियों के विषय में जानकारी दी। उल्लेखनीय है कि मिशन शक्ति की शुरुआत शारदीय नवरात्र 2020 से की गई थी। यह अभियान बासन्तिक नवरात्र 2021 तक चलेगा।

इस अवसर पर मुख्य सचिव  आर.के. तिवारी, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई एवं सूचना  नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव वित्त  एस. राधा चौहान, अपर मुख्य सचिव माध्यमिक शिक्षा  आराधना शुक्ला, अपर मुख्य सचिव उच्च शिक्षा  मोनिका एस. गर्ग, अपर मुख्य सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास  अरविन्द कुमार, अपर मुख्य सचिव श्रम  सुरेश चन्द्रा, अपर मुख्य सचिव कृषि  देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव युवा कल्याण  डिम्पल वर्मा, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य  अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चीनी उद्योग  संजय आर  भूसरेड्डी, अपर मुख्य सचिव नगर विकास डॉ. रजनीश दुबे, पुलिस महानिदेशक  हितेश सी. अवस्थी, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा  आलोक कुमार, प्रमुख सचिव दुग्ध विकास एवं पशुपालन  भुवनेश कुमार, प्रमुख सचिव आवास  दीपक कुमार, सचिव मुख्यमंत्री  आलोक कुमार,  सूचना निदेशक  शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 

 

 

Youtube Videos

Related post