• February 22, 2024
 कोरोना वैक्सीन एक बहुमूल्य संसाधन, यह सुनिश्चित किया जाय कि वैक्सीन की एक भी डोज व्यर्थ न हो- योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने कोविड-19 के दृष्टिगत पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि कई राज्यों में कोरोना संक्रमण की दर में बढ़ोत्तरी सभी के लिये एक चेतावनी है। उन्होंने कोरोना संक्रमण को नियंत्रित रखने के लिये प्रदेश में कोरोना से बचाव व उपचार की प्रभावी व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश भी दिये हैं।

08c43bc8-e96b-4f66-a9e1-d7eddc544cc3
345685e0-7355-4d0f-ae5a-080aef6d8bab
5d70d86f-9cf3-4eaf-b04a-05211cf7d3c4
IMG-20240117-WA0007
IMG-20240117-WA0006
IMG-20240117-WA0008
IMG-20240120-WA0039

                            योगी आदित्यनाथ   यहां लोक भवन में आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोरोना टेस्टिंग का कार्य पूरी क्षमता से संचालित किया जाए। विभिन्न विधियों से किये जाने वाले कुल कोविड टेस्ट में कम से कम 45 प्रतिशत टेस्ट प्रतिदिन आरटीपीसीआर विधि से किये जायें। कुल दैनिक टेस्ट में आरटीपीसीआर टेस्ट को बढ़ाकर 50 प्रतिशत करने के लिये प्रभावी उपाय किये जाएं। उन्होंने निर्देश दिये कि रेलवे स्टेशन, एयर पोर्ट तथा बस अड्डे पर रैपिड एन्टीजन टेस्ट की व्यवस्था को और प्रभावी किया जाए।

                                 योगी आदित्यनाथ  ने कहा कि समस्त जनपदों में डेडिकेटेड कोविड चिकित्सालय को क्रियाशील रखा जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर पूरी सक्रियता से कार्य करें। उन्होंने कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के निर्देश भी दिये।

                                 योगी आदित्यनाथ  ने कहा कि आगामी दिनों में पर्वों और त्यौहारों के दृष्टिगत बाजारों सहित विभिन्न सार्वजनिक स्थानों पर बड़ी संख्या में लोग आयेंगे। इसलिए सोशल डिस्टेंसिंग तथा मास्क के अनिवार्य उपयोग पर पूरा ध्यान दिया जाए। उन्होंने कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में लोगों को निरन्तर जागरूक किये जाने पर बल देते हुये कहा कि इस कार्य में पब्लिक एड्रेस सिस्टम का व्यापक स्तर पर उपयोग किया जाए।

                                योगी आदित्यनाथ    ने कहा कि प्रदेश में कोविड वैक्सीनेशन का कार्य भारत सरकार की गाइडलाइन्स और प्राथमिकता के अनुरूप संचालित किया जाए। उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीन एक बहुमूल्य संसाधन है। इसलिए यह सुनिश्चित किया जाए कि वैक्सीन की एक भी डोज व्यर्थ न हो। उन्होंने सरकारी तथा निजी चिकित्सालयों में संचालित कोविड वैक्सीनेशन कार्य की नियमित मॉनिटरिंग किये जाने के निर्देश भी दिये।

                                   बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री  सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री  जय प्रताप सिंह, मुख्य सचिव  आर के  तिवारी, अपर मुख्य सचिव गृह  अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक  हितेश सी  अवस्थी, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई व सूचना  नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य  अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम्य विकास  मनोज कुमार सिंह, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना  संजय प्रसाद, सचिव मुख्यमंत्री  आलोक कुमार सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Youtube Videos

Related post