• June 16, 2024
 उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था में व्यापक परिवर्तन के साथ विकास को गति मिली है- योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने आज जनपद गोरखपुर में ब्रह्मलीन महंत दिग्विजय नाथ स्मृति पार्क में बड़ौदा यू पी  बैंक द्वारा आयोजित वृहद ऋण वितरण शिविर में कुल 28,500 किसानों व व्यवसायियों को 201 करोड़ रुपये का ऋण वितरित किया। उन्होंने 18 लाभार्थियों, जिसमें जनपद गोरखपुर से 8 लाभार्थी   सदरू निषाद,   निगम पासवान,  मनीषा,  नूरजहां,   प्रहलाद,   राजेश,   खरबान,  मुन्नीलाल सिंह,   श्रीनारायण, गोरख बस्ती से 2 लाभार्थी   अमन कुमार श्रीवास्तव,   ऋषि कुमार, संतकबीरनगर से   तजद्दीन, फैजाबाद से  पल्लवी गुप्ता, कुशीनगर से  शकुन्तला, महराजगंज से   शमसुल हुदा तथा अम्बेडकर नगर से   बाबूराम और सिद्धार्थनगर से   जहीर अब्बास को अपने हाथों से ऋण/चेक प्रदान किया तथा वहां विभिन्न बैंको द्वारा लगाये गयीं प्रदर्शनी/स्टॉलों का निरीक्षण भी किया।

08c43bc8-e96b-4f66-a9e1-d7eddc544cc3
345685e0-7355-4d0f-ae5a-080aef6d8bab
5d70d86f-9cf3-4eaf-b04a-05211cf7d3c4
IMG-20240117-WA0007
IMG-20240117-WA0006
IMG-20240117-WA0008
IMG-20240120-WA0039

                        इस अवसर पर अपने सम्बोधन में योगी ने ग्रामीण क्षेत्र में वित्तीय समावेशन कार्यक्रम के तहत गांव के गरीब, किसान, नौजवान को जोड़ने के लिए किये जा रहे कार्यों के प्रति बैंक को धन्यवाद देते हुए कहा कि वर्ष 2014 के बाद सामान्य नागरिकों के जीवन में परिवर्तन लाने की दिशा में भारत के प्रधानमंत्री   ने अलग-अलग राज्य के मांग के अनुरूप योजनाओं हेतु कार्ययोजना तैयार कराकर वहां के नागरिकों के आर्थिक उन्नयन एवं स्वावलम्बी बनाने की दिशा में सभी को एक साथ जुड़कर कार्य करने के लिए प्रेरित किया है, जिसके तहत कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था में व्यापक परिवर्तन आया है और उत्तर प्रदेश में विकास को गति प्राप्त हुई है। विगत  4 वर्ष के अन्दर बैंक, युवा आमजन मानस से जुड़ता हुआ दिखायी दिया है और इसी का परिणाम है कि उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था में सुधार हुआ है।

    योगी ने  कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा संचालित विभिन्न रोजगारपरक योजनाओं के तहत शिविर/मेला आयोजित कर एक अभियान के तहत उद्यमियों, नौजवानों, कृषकों आदि को ऋण मुहैया कराया गया है। प्रदेश में  7 करोड़ से अधिक जनधन खाता धारक हैं, जिसमें गोरखपुर में लगभग 17.50 लाख खाते खोले गये हैं। कोविड-19 के दौरान इन खातों में लाभार्थियों  को धनराशि भेजी गयी। शासन की योजनाआं के तहत डीबीटी के माध्यम से लाभार्थी के खाते में सीधे धनराशि भेजी जाती है, जिससे उनका आर्थिक उन्नयन होने के साथ ही वे स्वावलम्बन की ओर बढ़ें।

                                  योगी ने   कहा कि एक जनपद एक उत्पाद (ओ.डी.ओ.पी.), किसान क्रेडिट कार्ड (के.सी.सी.) आदि योजनाओं के लाभार्थियों को ऋण मेले में ऋण वितरित किया गया है। गोरखपुर में ओ.डी.ओ.पी. के तहत टेराकोटा का चयन किया गया है। दीपावली के अवसर पर अपने हस्तशिल्प/कला के माध्यम से उद्यमियों ने अच्छा मुनाफा प्राप्त किया। उन्होंने कहा कि बेरोजगारों को रोजगार, विकास, किसानों की आय में वृद्धि आदि सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने बैंकर्स से कहा कि ऋण देने के साथ लाभार्थी जिस उद्यम हेतु ऋण प्राप्त कर रहा है, उससे सम्बंधित प्रशिक्षण देने के साथ ही उसे मार्केट से जोड़ा जाये तो वह आर्थिक उन्नयन के साथ ही स्वावलम्बन की ओर बढ़ेगा।  एक जनपद एक उत्पाद  देश की लोकप्रिय एवं अभिनव योजना है और यह आत्मनिर्भर भारत की आधारशिला है। मुख्यमंत्री   ने कहा कि हर माह जनपद स्तर पर बैंकर्स की बैठक कर विभिन्न शासकीय योजनाओं की समीक्षा की जाये। युवाओं, किसानों , उद्यमियांे को बैंकर्स ऋण प्रदान कर उनके उत्थान की दिशा में आगे बढें। प्रदेश के अन्दर जमापूंजी के सापेक्ष निर्धारित लक्ष्य पूर्ण किये जायें। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में बैंकों के सीडी रेशियो में पहले की तुलना में वृद्धि हुई है।

                                                 योगी ने कहा कि ओ.डी.ओ.पी. के जरिये कम पूंजी पर रोजगार की गारण्टी है। इसके स्थानीय स्तर पर परिणाम का पूरे प्रदेश में व्यापक सकारात्मक प्रभाव देखने को मिला है। विगत 4 वर्षों में प्रदेश सरकार ने 50 लाख एमएसएमई  इकाइयों   को बैंकों से लोन दिलाकर करोड़ों लोगों को रोजगार से जोड़ने का कार्य किया है। इस अवसर पर राज्य सभा सांसद/पूर्व केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री   शिव प्रताप शुक्ल, नगर विधायक डॉ. राधा मोहन दास अग्रवाल आदि ने भी अपने विचार व्यक्त करते हुए ऋण वितरण शिविर के आयोजन पर बड़ौदा यूपी बैंक की प्रशंसा की।

     बैंक के चेयरमैन   देवेन्द्र पाल ग्रोवर ने मुख्यमंत्री   सहित उपस्थित सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए बताया कि प्रदेश के 31 जनपदों में बैंक की 1,953 शाखाएं आम जनता को बैकिंग सेवाएं प्रदान कर रही हैं। पूर्वान्चल के 28 जनपदों में से 22 जनपदो में बैंक अपनी 1,479 शाखाओं एवं 4,705 ग्राहक सेवा केन्द्रों के माध्यम से लोगों की बैंकिंग आवश्यकताओं की पूर्ति कर रहा है। यह बैंक प्रदेश के आर्थिक विकास व रोजगार सृजन के लिए किसानों, कुटीर उद्योगों में संलग्न व्यवसायियों असंगठित ग्रामीण क्षेत्र में व्यवसायगत व्यक्तियों, ग्रामीण महिलाओं को ऋण प्रदान कर रहा है।

    इस अवसर पर राज्य सभा सांसद   जय प्रकाश निषाद, महापौर   सीताराम जायसवाल, जनप्रतिनिधिगण सहित जिला प्रशासन के अधिकारी व बैंक के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Youtube Videos

Related post