• May 25, 2024
 उत्तर प्रदेश का चुनावी बजट-2021: अब तक का सबसे बड़ा बजट पेश की योगी सरकार
  • यूपी सरकार ने पेश किया अपना पेपरलेस बजट
  • किसानों को मुफ्त पानी, सस्ते लोन का ऐलान
  • अयोध्या के लिए 140 करोड़, एयरपोर्ट पर भी फोकस

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने सोमवार को अपने आम बजट को पेश किया। अगले साल राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले योगी सरकार के इस कार्यकाल का ये अंतिम पूर्ण बजट है। योगी सरकार ने इस बजट को पूरी तरह से पेपरलेस पेश किया है, वित्त मंत्री सुरेश खन्ना भी विधानसभा में एप्पल के कंप्यूटर से बजट पेश करते हुए नज़र आए।

08c43bc8-e96b-4f66-a9e1-d7eddc544cc3
345685e0-7355-4d0f-ae5a-080aef6d8bab
5d70d86f-9cf3-4eaf-b04a-05211cf7d3c4
IMG-20240117-WA0007
IMG-20240117-WA0006
IMG-20240117-WA0008
IMG-20240120-WA0039

 यूपी सरकार का ये बजट प्रदेश के इतिहास का अबतक का सबसे बड़ा बजट है। इस बार का बजट कुल 5 लाख 50 हज़ार 270 करोड़ 78 लाख रुपये का है। कृषि कानून पर मचे बवाल से इतर यूपी सरकार ने किसानों को खेती के लिए मुफ्त पानी देने, सस्ता लोन उपलब्ध कराने का ऐलान किया है। वित्त मंत्री ने ऐलान किया कि हमारी सरकार 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने पर काम कर रही है. किसानों को सस्ता लोन देने के लिए 400 करोड़, खेती के लिए मुफ्त पानी देने के लिए 600 करोड़ का आवंटन हुआ है।

अयोध्या के विकास पर रहा पूरा फोकस

योगी सरकार ने एक बार फिर अपने बजट में अयोध्या पर फोकस किया है। अयोध्या के पूर्ण विकास के लिए 140 करोड़ रुपये दिए गए हैं। इसके अलावा अयोध्या एयरपोर्ट का नाम मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डा अयोध्या होगा, इसके लिए 101 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित की गई है। वित्त मंत्री ने अपने बजट भाषण में राम मंदिर तक रास्ते के लिए भी 300 करोड़ से अधिक का ऐलान किया है। कोरोना टीकाकरण के लिए 50 करोड़ रुपये ऐसी उम्मीद जताई जा रही थी कि यूपी सरकार चुनाव से पहले मुफ्त कोरोना वैक्सीन का ऐलान कर सकती है। हालांकि, बजट में अभी ऐसा कुछ नहीं कहा गया है. बल्कि कोरोना टीकाकरण के लिए कुल 50 करोड़ रुपये का ऐलान किया गया है।

अयोध्या के लिए 140 करोड़ का बजट

अयोध्या स्थित सूर्यकुण्ड के विकास सहित अयोध्या के सर्वांगीण विकास की योजना के लिए योगी सरकार ने वित्त वर्ष 2021-22 के बजट में 140 करोड़ रुपये की व्यवस्था का प्रस्ताव रखा है। इसके साथ ही लखनऊ में राष्ट्रीय प्रेरणा स्थल के निर्माण के लिए 50 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। च‍ित्रकूट में पर्यटन के ल‍िए 20 करोड़ रुपये दिए गए हैं को वहीं वाराणसी में पर्यटन के ल‍िए 100 करोड़ रुपये आबंटित किए गए हैं।

मेट्रो और रैपिट रेल पर जोर

योगी सरकार ने दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल के लिए 1326 करोड़ रुपये प्रस्तावित किया है। इसके अलावा गोरखपुर-वाराणसी मेट्रो के लिए 100-100 करोड़ रुपये दिए गए हैं। सुरेश खन्ना ने कहा कानपुर मेट्रो रेल परियोजना की अनुमोदित लागत 11,076 करोड़ रूपये है। वित्त वर्ष 2021-2022 के बजट में इस परियोजना के लिए 597 करोड़ रूपये की व्यवस्था की गई है। साथ ही कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के प्राथमिक सेक्शन आईआईटी कानपुर से मोतीझील रूट पर ट्रायल रन शुरू करने की बात कही है।

अयोध्या एयरपोर्ट का नाम मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डा होगा

सुरेश खन्ना ने कहा कि उत्तर प्रदेश में ऑपरेशनल एयरपोर्ट्स की संख्या 4 से बढ़कर 7 हो गई है। जनपद अयोध्या में निर्माणाधीन एयरपोर्ट का नाम मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम हवाई अड्डा अयोध्या होगा। इस एयरपोर्ट के लिए 101 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। साथ ही जेवर एयरपोर्ट में हवाई पट्टियों की संख्या दो से बढ़ाकर छह करने का निर्णय लिया गया है। इस परियोजना के लिए 2000 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। वित्त मंत्री ने कहा कि कुशीनगर एयरपोर्ट को केंद्र सरकार ने अन्तरराष्ट्रीय एयरपोर्ट घोषित है। अब राज्य में 4 अन्तरराष्ट्रीय एयरपोर्ट लखनऊ, वाराणसी, कुशीनगर और गौतमबुद्धनगर में होंगे।

किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य है। सड़क हादसे में मरने वाले किसानों को 5 लाख की आर्थिक मदद दी गई है। वित्त मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री अभ्योदय योजना शुरू की गई। हर घर में जल, बिजली और बैंकिंग की सुविधा मिलेगी। महिला सुरक्षा के लिए लगातार अभियान चलाए जा रहे हैं। इसके साथ ही किसानों को सिंचाई के लिए मुफ्त में पानी मिलेगा, इसके लिए 700 करोड़ रुपये आबंटित किए गए हैं। साथ ही किसानों को सस्ता कृषि लोन भी उपलब्ध कराया जाएगा। सुरेश खन्ना ने कहा कि प्रदेश में अधिक उत्पादक वाली फसलों को चिन्हित किया जाएगा। ब्लॉक स्तर पर कृषक उत्पादन संगठनों की स्थापना की जाएगी, इसके लिए 100 करोड़ रुपये दिए जाएंगे।

कोरोना वैक्सीन के लिए 50 करोड़ रुपये

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने ऐलान किया कि कोरोना टीकाकरण के लिए 50 करोड़ रुपये प्रस्तावित हैं, जबकि आयुष्मान भारत के लिए 13 करोड़ रुपये प्रस्तावित हैं। प्रदेश के पीपीपी मॉडल से मेडिकल कॉलेज बनाए जा रहे हैं। सुरेश खन्ना ने बजट भाषण की शुरुआत करते हुए कहा कोरोना काल में सरकार ने एकजुट होकर कार्य किया। पहली बार शहरी क्षेत्र के मजदूरों के लिए 10,35,000 राशन कार्ड बनाए गए। वहीं, कोरोना काल में राजस्थान के कोटा से लगभग 12,000 छात्रों को और प्रयागराज से 14,000 छात्रों को सकुशल के घर पहुंचाया गया। कोरोना संकट में सभी कोरोना वॉरियर्स ने डटकर मुकाबला किया। हार तब होती है जब मान लिया जाता है और जीत तब होती है जब ठान लिया जाता है। वित्तमंत्री ने आगे कहा कि कोरोना संकट काल में भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशन में सभी कर्मचारियों को समय पर वेतन का भुगतान किया गया।

छात्रों को दी ये सौगात

सुरेश खन्ना ने कहा कि प्रतियोगी परीक्षाओं के युवाओं को मुफ्त कोचिंग दी जा रही है, इसके लिए छात्र-छात्राओं को टैबलेट भी दिए जाएंगे। बेरोजगार युवाओं की काउंसिलिंग की जा रही है। अभी तक 52 हजार युवाओं को इसका लाभ मिला है। कई अन्य जनपदों में भी ऐसे ही सेंटर्स बनाने का घोषणा की गई है। वित्त मंत्री ने ऐलान किया कि प्रदेश के 19 जनपदों में कुल 40 छात्रावास बनाए जाएंगे। अलग-अलग जनपदों में अधिवक्ताओं के लिए चेंबर बनाए जाएंगे और किताबें भी दी जाएंगी। संस्‍कृत स्‍कूलों में फ्री होस्टल की सुव‍ि‍धा दी जाएगी। साथ ही न‍िर्माणाधीन मेड‍िकल कालेजों के ल‍िए 950 करोड़ रुपये आबंटित किए गए हैं। योगी सरकार ने मेरठ में स्पोर्ट्स विश्वविद्यालय बनाने का एलान किया है। इसके साथ ही राज्य ग्रामीण क्षेत्रों में ओपन जिम बनाए जाएंगे।

बजट की अन्य प्रमुख घोषणाएं

• बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के लिए 1492 करोड़ रुपये आबंटित, वित्त मंत्री ने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के लिए 1107 करोड़ रुपये दिए। वहीं, गोरखपुर एक्सप्रेस-वे के लिए 750 करोड़ रुपये का बजट पेश किया।
• वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने ऐलान किया कि जेवर एयरपोर्ट के पास एक इलेक्ट्रॉनिक सिटी बनाई जाएगी। प्रदेश में अलग-अलग जगहों पर आईटी पार्क बनाए जा रहे हैं।
• प्रदेश के कलाकारों को यूपी गौरव सम्मान दिया जाएगा, पुरस्कार में 1 लाख रुपये की राशि दी जाएगी।
• गोवंश के सरंक्षण के लिए योजना चलाई जा रही है, अलग-अलग जगह पर गोशाला बनाई गई हैं। इसे आगे बढ़ाया जाएगा और अलग-अलग जगहों पर आश्रय स्थलों की संख्या को बढ़ाई जाएगी।
• वित्त मंत्री ने कहा- उत्तर प्रदेश में स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था की जा रही है। पेयजल योजना के लिए 15000 करोड रुपए के बजट की व्यवस्था की गई है। वर्ष 2022 तक शहर और गांवों के घर-घर तक नल से पानी पहुंचाया जाएगा।

योगी ने बजट को सराहा

सरकार का बजट पेश होने के बाद यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने पेपरलेस बजट पेश किया, ई-कैबिनेट मीटिंग भी की। यूपी सीएम ने कहा कि हमारा बजट सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास वाला बजट है जो कि मील का पत्थर साबित होगा। योगी आदित्यनाथ बोले कि इस बार बजट की थीम समग्र और समावेशी था सशक्तिकरण रही है। चुनाव से पहले हुए ऐलान ही ऐलान आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में इस बार यूपी सरकार की ओर से ये इस कार्यकाल का अंतिम पूर्ण बजट पेश किया गया है।योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में बीजेपी पिछले चार साल से प्रदेश में शासन कर रही है। ऐसे में अब जब चुनावी साल करीब है तो बीजेपी का फोकस फिर से सत्ता में वापसी का है। बीते कुछ वक्त में योगी सरकार लगातार सपा-बसपा और कांग्रेस के निशाने पर रही है।

 

Youtube Videos

Related post